भेंट-मुलाकात की झलकियां :जिला- मुंगेली, विधानसभा – लोरमी

0
87
  • मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल पुलिस लाईन हेलीपेड रायपुर से ग्राम चंदली, मुंगेली जिले में भेंट-मुलाकात के लिए रवाना।
  •     मुख्यमंत्री श्री बघेल का चंदली में हेलीपेड पर जोरदार स्वागत।
  •     गौठान चंदली – रीपा में चल रही गतिविधियों का मुख्यमंत्री ने किया अवलोकन।
  •     चंदली में गोबर से पेंट निर्माण यूनिट का किया अवलोकन।
  •     जय बूढ़ादेव स्व-सहायता समूह के सदस्य श्रीमती सुनीता धु्रव ने बताया कि पिछले दो माह में गोबर से 1500 लीटर प्राकृतिक पेंट का निर्माण किया जा चुका है, जिसमें 860 लीटर पेंट की बिक्री सी-मार्ट में की जा चुकी है। इससे 62 हजार रूपए की आमदनी हो चुकी है।
  •     मुख्यमंत्री ने चंदली गौठान स्थित रीपा में दोना-पत्तल का निर्माण करने वाली जय मां अम्बे स्व-सहायता समूह की सदस्य गणेशिया पटेल ने बताया कि अब तक 10 हजार बंडल दोना-पत्तल का निर्माण किया जा चुका है। बाजारों में 8 रूपए प्रति बंडल की दर से दोना तथा 25 रूपए प्रति बंडल की दर से पत्तल की बिक्री की जाती है।
  •     श्रीमती गणेशिया ने बताया कि अब तक 48 हजार रूपए के दोना-पत्तल की बिक्री कर चुके हैं। इससे पिछले दो महीनों में 20700 रूपए की आमदनी हुई है। उन्होंने बताया कि दोना-पत्तल की बिक्री सी-मार्ट तथा साप्ताहिक बाजारों में की जाती है।
  •     मुख्यमंत्री ने वहां जूता-चप्पल निर्माण यूनिट का भी किया अवलोकन। वहां वंदेमातरम् स्व-सहायता समूह की महिला पुष्पा खोटे ने बताया कि पिछले एक महीने में 309 स्लीपर-चप्पल का निर्माण कर 21 हजार रूपए की बिक्री कर चुके हैं। इससे हमें 11 हजार 400 रूपए की आमदनी हुई है।
  •     समूह की सदस्य पुष्पा ने बताया कि मछलीपालन भी कर रहे हैं। अभी तीन तालाब में मछली डाले हैं और खर्चा काटके 2 लाख रूपए की आय होने की संभावना है।
  •     डेहरकापा की रूखमणि नवरंग ने बताया कि दोना-पत्तल का निर्माण करते हैं, इससे प्रति माह लगभग 10 हजार रूपए की आमदनी होती है।
  •     आदर्श स्व-सहायता समूह से अनूपा यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि उनके समूह ने गौठान में बकरीपालन कर 60 हजार रूपए से अधिक की आमदनी अर्जित की है। मुख्यमंत्री ने इस दौरान सिलाई मशीन यूनिट का भी अवलोकन किया।
  •     मुख्यमंत्री ने चंदली रीपा में वाई-फाई का शुभारंभ किया।
  •     चंदली में रीपा देख खुश हुए मुख्यमंत्री।
  •     मुख्यमंत्री ने वहां प्रशिक्षण कक्ष में समूह की महिलाओं से की सामूहिक चर्चा।
  •     महिलाओं की उद्यमशीलता को सराहा।
  •     मुख्यमंत्री ने डिस्प्ले तथा प्रशिक्षण कक्ष का किया निरीक्षण और महिलाओं का बढ़ाया हौसला।
  •     मुख्यमंत्री ने खुड़िया स्थित दस महाविद्या मंदिर में पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों की खुशहाली और समृद्धि के लिए कामना की।
  •     खुड़िया स्थित जैव विविधता पार्क को देखा मुख्यमंत्री ने।
  • मुख्यमंत्री ने जैव विविधता पार्क में भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण।
  •     जैव विविधता के प्रति जागरूकता लाने तथा उनके संरक्षण, संवर्धन एवं सुरक्षा के दृष्टिकोण से निर्मित है यह पार्क।
  •     भेंट-मुलाकात: मुख्यमंत्री ने विधानसभा क्षेत्र लोरमी के ग्राम खुड़िया में दी सौगात।
  •     लगभग 14 करोड़ रूपए के विकास कार्यों का किया लोकार्पण एवं भूमिपूजन।
  •     लोकार्पण किए गए कार्यों में – 92.60 लाख रूपए की लागत से शासकीय राजीव गांधी कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय लोरमी में अतिरिक्त कक्ष निर्माण और 27.73 लाख रूपए की लागत से ग्राम अखरार में नवनिर्मित उपस्वास्थ्य केन्द्र का लोकार्पण शामिल।
  •     मुख्यमंत्री ने इस दौरान 12 करोड़ 51 लाख रूपए की राशि के 19 विभिन्न विकास कार्यों का किया भूमिपूजन।
  •     मुख्यमंत्री श्री बघेल हितग्राहियों से मिले, सीधा संवाद कर फीडबैक लिया।
  •     खुड़िया में मोती कश्यप ने बताया कि छह लोगों का उनका परिवार है और वह अपने घर के पास डेयरी का संचालन करता है। जिसमें उच्च नस्ल की गाय व भैंसे रखी गई है, जिससे उन्हें प्रति माह 10 से 12 हजार रूपए की आमदनी होती है। उन्होंने बताया कि डेढ़ लाख का गोबर बेचा है, जिससे उन्होंने कर्ज चुकाया है। इसके साथ-साथ बाकी पैसों का उपयोग वे अपने पढ़ाई तथा पीएससी की तैयारी कर रहे हैं।
  •     लक्ष्मीन बाई रामु निषाद के घर भोजन ग्रहण किया मुख्यमंत्री ने।
  •     घर के सदस्यों ने मुख्यमंत्री का पारम्परिक रूप से पूरी आत्मीयता से आरती कर पुष्प गुच्छ के साथ स्वागत किया।
  •     घर में भोजन ग्रहण करने पहुंचे मुख्यमंत्री श्री बघेल को देखकर सरपंच और परिवारजन खुशी से गदगद हो गए।
  •     मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात लोरमी विधानसभा – विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों से की मुलाकात। विभिन्न समाजों को सामाजिक भवन निर्माण के लिए राशि की घोषणा।
  •     युवाओं, विशेष पिछड़ी जनजाति के बैगा बच्चों और हितग्राहियों ने छत्तीसगढ़ सरकार की नीतियों की तारीफ की।
  •     बैगा बच्चों ने सीधी भर्ती में सरकारी नौकरी देने के लिए मुख्यमंत्री श्री बघेल का आभार जताया।