EPFO ने करोड़ों कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा ,ब्याज दर बढ़ाकर की 8.25 प्रतिशत

0
45

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने आज देश के करोड़ों कर्मचारियों को एक बड़ा तोहफा दिया है. EPFO ने शनिवार को वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर 8.25 प्रतिशत की उच्च ब्याज दर तय की है. यह पिछले 3 वर्षों में सबसे अधिक ब्याज दर है. इससे पहले EPFO ने मार्च, 2023 में 2022-23 के लिए EPF पर ब्याज दर को 2021-22 के 8.10 प्रतिशत से बढ़ाकर 8.15 प्रतिशत किया था.

EPFO ने करोड़ों कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा ,ब्याज दर बढ़ाकर की 8.25 प्रतिशत

read more: मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय जशपुर के टांगरगांव में आयोजित अंशकालीन सफाई कर्मचारी कल्याण संघ अभिनंदन सम्मान समारोह में शामिल होने पहुंचे

6 करोड़ कर्मचारियों का होगा फायदा

केंद्रीय न्यासी बोर्ड (CBT) के फैसले के बाद वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए EPF पर ब्याज दर को सहमति के लिए वित्त मंत्रालय को भेजा जाएगा. वित्त मंत्रालय के अनुमोदन के बाद 2023-24 के लिए EPF पर ब्याज दर EPFO के 6 करोड़ से अधिक ग्राहकों के अकाउंट्स में जमा की जाएगी. बता दें कि EPFO वित्त मंत्रालय के सहमति के बाद ही EPF पर ब्याज दर प्रदान करता है.

EPFO ने करोड़ों कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा ,ब्याज दर बढ़ाकर की 8.25 प्रतिशत

read more: अपराध, नशाखोरी और अवैध गतिविधियों पर हमारी सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति : मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय

2014-15 में 8.75 प्रतिशत थी ब्याज दर

EPFO ने वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को मार्च, 2020 में घटाकर 7 साल के निचले स्तर 8.5 प्रतिशत कर दिया था, जो 2018-19 के लिए 8.65 प्रतिशत थी. EPFO ने अपने ग्राहकों को वित्तीय वर्ष 2016-17 में 8.65 प्रतिशत और वित्तीय वर्ष 2017-18 में 8.55 प्रतिशत ब्याज दर प्रदान की थी. वित्तीय वर्ष 2013-14 और 2014-15 में EPFO ने 8.75 प्रतिशत ब्याज दर दी थी.